Category Archives: Suvichaar

Suvichaar

🌞सुविचार🌞

सच में धनी व्यक्ति वह है, जिसके बच्चे तब भी उसकी बाहों में दौड़ आएँ, जब उसके हाथ खाली हों…

सुप्रभात जी…☕…
🌞🌹🌞

suvichaar

🌞सुविचार🌞

चालाकियों से किसी को कुछ देर तक “मोहित” किया जा सकता है, पर जहाँ दिल जीतने की बात आती है तो “सरल” और “सहज” होना जरुरी है…

सुप्रभात जी…☕…
🌞🌹🌞

सुविचार

🌞सुविचार🌞

खुद की योग्यता पर ही भरोसा करना क्योंकि सहारे कितने भी अच्छे हों, साथ छोड़ ही जाते हैं…

सुप्रभात जी…☕…
🌞🌹🌞

🌞सुविचार🌞

🌞सुविचार🌞

धन को एकत्रित करना सहज है लेकिन संस्कारों को एकत्रित करना कठिन हैं, धन को तो लूटा जा सकता है लेकिन संस्कारों के लिए समर्पित होना पड़ता है…

सुप्रभात .जी…☕…
🌞🌹🌞

सुविचार

🌞सुविचार🌞

पानी को कितना भी गर्म कर लें पर वह थोड़ी देर बाद अपने मूल स्वभाव में आकर शीतल हो जाता हैं…
इसी प्रकार हम कितने भी क्रोध में, भय में, अशांति में रह लें, थोड़ी देर बाद-बोध में, निर्भयता में और प्रसन्नता में हमें आना ही होगा क्योंकि यही हमारा मूल स्वभाव है…

सुप्रभात जी…☕…

सुविचार

🌞सुविचार🌞

विश्वास किसी पर इतना करो कि वो तुम्हे छलते समय खुद को दोषी समझे…
और प्रेम किसी से इतना करो कि उसके मन में सदैव तुम्हें खोने का डर बना रहे…

सुप्रभात जी…☕…

सुविचार

🌞सुविचार🌞

*किसी की बुराई तलाश करने वाले इंसान की मिसाल उस मक्खी की तरह है जो सारे खूबसूरत जिस्म को छोडकर केवल जख्म पर ही बैठती है…*

सुप्रभात जी…☕…

सुविचार

सुविचार

*ईश्वर ने दूसरों को क्या दिया है, ये देखने में हम लोग इतने व्यस्त होते हैं, कि ईश्वर ने हमें क्या दिया है वो देखने का हमें वक़्त ही नही होता…*

सुप्रभात जी…